बाड़मेर : प्रेमी जोड़े ने किया सुसाइड , एक चुन्नी से लटककर दी जान

बाड़मेर के गुडामालानी में एक बार फिर प्रेमी जोड़े ने सामूहिक आत्महत्या की है बता दें कि यह घटना गुडामालानी......

- Advertisement -

बाड़मेर के गुडामालानी में एक बार फिर प्रेमी जोड़े ने सामूहिक आत्महत्या की है बता दें कि यह घटना गुडामालानी थाना के अंतर्गत आने वाले गोलियां कला गांव में घटित हुई हैं ।

प्रेमी व प्रेमिका आपस में रिश्तेदार बताए जा रहे हैं एवं पुलिस ने दोनों शवों को मोर्चरी में रखवा दिया है एवं फिलहाल पुलिस जांच में जुटी हुई है , पुलिस ने बताया कि प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि प्रेम प्रसंग के चलते युवक व युवती ने सुसाइड किया है ।

पुलिस जानकारी के अनुसार धाधंलावास निवासी राकेश पुत्र भंवराराम व मांडावास निवासी ममता पुत्र हीराराम ने रविवार को गोरिया कला गांव में ममता की सोनी से दोनों ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर दी। दोनों ने अपने घर से करीब 4 किलोमीटर की दूरी पर जाकर आत्महत्या की थी ।

इसके बाद ग्रामीणों ने पेड़ से लटकते शव को देखने पर पुलिस को सूचना दी एवं पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों की पहचान की व परिजनों को इसके बारे में सूचना दी।

फिलहाल प्रेमी व प्रेमिका के पास कोई भी सुसाइड नोट या अन्य किसी भी प्रकार का नोट नहीं मिला है एवं पुलिस ने परिजनों की रिपोर्ट पर आगे की कार्रवाई करने का आश्वासन देते हुए गांव के लोगों की मदद से दोनों शवों को पेड़ से नीचे उतारा ।

बताया जा रहा है कि राकेश व ममता दोनों मामाई भाई-बहन थे , एवं राकेश व ममता के बीच चल रहे प्रेम प्रसंग की परिवार को भनक लगने पर बदनामी के डर से दोनों ने सुसाइड कर दिया। एवं सुसाइड में पुलिस ने पाया कि दोनों ने फंदे के रूप में ममता की चुन्नी का प्रयोग किया था ।

यह भी पढ़ें

कांग्रेस की बाड़ाबंदी : नाराज विधायकों पर रखी जा रही निगरानी

सिद्धू हत्याकांड : विश्नोई गैंग शब्द का प्रयोग करने पर समाज में नाराजगी

Rajasthan Police Constable Exam : राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती की निरस्त परीक्षा की तिथि घोषित

.

Share This Article
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
राहुल गांधी ने शादी को लेके कही बड़ी बात, जानिए कब हैं राहुल गांधी की शादी रविंद्र सिंह भाटी और उम्मेदाराम बेनीवाल ने मौका देखकर बदल डाला बाड़मेर का समीकरण Happy Holi wishes message राजस्थान में मतदान संपन्न, 3 दिसंबर का प्रत्याशी और मतदाता कर रहे इंतजार 500 का नोट छापने में कितना खर्चा आता है?, 500 ka note banane ka kharcha