पशु परिचारक के कार्य, Pashu parichar kya hai

Pashu parichar kya hai , पशु परिचारक को क्या काम करना पड़ता हैं?

राज्य सरकारों द्वारा पशु परिचर या पशु परिचारक की समय-समय पर भर्ती निकाली जाती है, चतुर्थ श्रेणी की यह भर्ती‌ सरकार द्वारा क्यों आयोजित की जाती है एवं पशु परिचारक के क्या कार्य होते हैं इसके बारे में आज के लेख में हम पूरी विस्तारित जानकारी जानने की कोशिश करेंगे।

पशु परिचारक के कार्य, पशु परिचर क्या काम करता हैं?

पशु परिचारक व्यक्ति को पशु डॉक्टर के साथ सहयोगी के रूप में लगाया जा सकता है, इसके अलावा पशुओं की देखभाल एवं पशुओं के परवरिश करने के लिए भी पशु परिचारक को जिम्मेदारी सौंपी जाती है।

कई बार पशु परिचारक को पौधों को पानी देने का काम भी सौंपा जा सकता है।

पशु परिचारक को पशुओं की सेहत, पशुओं के आहार- पानी एवं आवास की ध्यान रखने की जिम्मेदारी होती हैं, इसके अलावा समय समय पर टीकाकरण करने एवं पोषण को सुनिश्चित करने के लिए भी पशु परिचारक को जिम्मेदारी सौंपी जाती है।

पशु परिचारक कार्यों का संक्षिप्त रूप में विवरण किया जाए तो पशुओं के देखभाल की जिम्मेदारी पशु परिचारक का कार्य होता है।

यह भी पढ़ें आचार संहिता का अर्थ, आचार संहिता लगने का मतलब क्या होता हैं?

हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें Really Bharat पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट रियली भारत पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: News in Hindi

Tags

Share this post:

Related Posts