न्याय के लिए दर – दर ठोकरें खा रहा अमराराम , पहुंचा सांसद हनुमान बेनीवाल के पास …..

आरटीआई एक्टिविस्ट अमराराम पर हमले का मामला   राजस्थान के बाड़मेर में एक आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा पंचायत में घोटालों की......

- Advertisement -

आरटीआई एक्टिविस्ट अमराराम पर हमले का मामला

 

राजस्थान के बाड़मेर में एक आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा पंचायत में घोटालों की संबंधित रिपोर्ट मांगने पर सरपंच एवं अन्य बदमाशों ने मिलकर आरटीआई एक्टिविस्ट अमराराम गोदारा के पैर तोड़ दिए , इसके बाद अमराराम को सड़क किनारे झाड़ियों में फैंक दिया , इसी दौरान मीडिया के माध्यम से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तक पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आर्थिक सहायता के साथ अमराराम के मामले की पूरी जांच सीआईडी सीबी को सौंपने की बात कही थी , लेकिन अमराराम का कहना है कि इस घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों अभी तक सरेआम घूम रहे है , पुलिस द्वारा कोई भी उचित कार्रवाई नहीं की गई , हालांकि पुलिस ने उस समय 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया था , लेकिन आर टी आई कार्यकर्ता का कहना है कि मुख्य आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर रही हैं । 

अमराराम शनिवार को जवाबदेही कानून को लेकर शहीद स्मारक पर चल रहे धरना प्रदर्शन में भी शामिल हुए थे , एवं अपने ऊपर हुए हमले के लिए न्याय की गुहार लगाई , इसके बाद RTI कार्यकर्ता अमराराम रविवार को नागौर सांसद व रालोपा प्रमुख हनुमान बेनीवाल के जयपुर आवास पर पहुंचे , वहीं सांसद बेनीवाल ने आश्वासन दिया कि अमराराम पर हुए हमले के मुख्य आरोपियों सहित सभी आरोपी जेल की सलाखों के पीछे होंगे । 

आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम के साथ अमराराम के पिता किरताराम व पत्नी इंद्रा देवी न्याय के लिए सांसद बेनीवाल के पास पहुंचे , रालोपा प्रमुख हनुमान बेनीवाल ने बताया कि अमराराम को लेकर विधानसभा में मामला उठाया जाएगा एवं अगर जरूरत पड़ी तो बेनीवाल खुद अपने कार्यकर्ताओं के साथ सड़क पर आंदोलन करेंगे।

जानकारी के अनुसार अमराराम पर हुए हमले के बाद अमराराम द्वारा लगातार न्याय की गुहार लगाने पर अमराराम को फिर से जान से मारने की धमकी मिली है।

 सांसद बेनीवाल ने अमराराम व उनके परिवार को न्याय का आश्वासन देते हुए उन्हें घर भेज दिया 

20220227 171638
पीड़ित परिवार से मिलते हुए सांसद

दरअसल अमराराम पर हमला दिसंबर के अंतिम सप्ताह में हुआ था वहीं घटना को करीब 2 महीने बीत गए हैं लेकिन अमरा राम को अभी तक न्याय नहीं मिल पाना राजस्थान की कानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़े करती है ।

RTI एक्टिविस्ट अमराराम ने दी भूख हड़ताल की धमकी …….

.

Share This Article
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
राहुल गांधी ने शादी को लेके कही बड़ी बात, जानिए कब हैं राहुल गांधी की शादी रविंद्र सिंह भाटी और उम्मेदाराम बेनीवाल ने मौका देखकर बदल डाला बाड़मेर का समीकरण Happy Holi wishes message राजस्थान में मतदान संपन्न, 3 दिसंबर का प्रत्याशी और मतदाता कर रहे इंतजार 500 का नोट छापने में कितना खर्चा आता है?, 500 ka note banane ka kharcha