भारत में राष्ट्रीय राजनीतिक दल कितने हैं ? , राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों की संख्या एवं नाम

भारत में राष्ट्रीय राजनीतिक दल कितने हैं ? , राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों की संख्या एवं नाम भारत में राष्ट्रीय मान्यता......

- Advertisement -

भारत में राष्ट्रीय राजनीतिक दल कितने हैं ? , राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों की संख्या एवं नाम

भारत में राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल कितने हैं?

भारत में वर्तमान में राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के बारे विस्तृत रूप से जानने का प्रयास करेंगे , वर्तमान में भारत में 8 राजनीतिक दल ऐसे हैं जिन्हें राष्ट्रीय राजनीतिक दल के तौर पर यानी कि राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टी के तौर पर मान्यता प्राप्त है।

वर्तमान में केंद्र में चुनाव जीतने वाली भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त दल है एवं इसका चुनाव चिन्ह कमल हैं, विपक्ष की भूमिका में सबसे बड़ी पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का चुनाव चिन्ह हाथ का पंजा है , भारतीय कम्युनिस्ट दल मान्यता प्राप्त दल है एवं इसका चुनाव चिन्ह हंसिया व बाली हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल एवं इसकी चुनाव चिन्ह घड़ी हैं , बहुजन समाज पार्टी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनीतिक दल है एवं इसका चुनाव चिन्ह असम को छोड़कर बाकी सभी जगह हाथी है।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी  (मार्क्सवादी पार्टी ) मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनीतिक दलों एवं इसका चुनाव चिन्ह हंसिया, हथोड़ा एवं तारा हैं।

तृणमूल कांग्रेस पार्टी का चुनाव चिन्ह जोड़ा फूल हैं, एवं नेशनल पीपुल्स पार्टी का चुनाव चिन्ह पुस्तक हैं।

यह भी पढ़ें मोबाइल कॉल रिकॉर्डिंग हमेशा के लिए बंद होने वाली हैं?

एवं अब अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी भी राष्ट्रीय राजनीतिक दल के लिए आवश्यक शर्तों को पूरा करती हैं, लेकिन निर्वाचन आयोग की ओर से अभी तक राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा नहीं मिला है। आम आदमी पार्टी का चुनाव चिन्ह झाड़ू है ।

इसके अलावा प्रमुख क्षेत्रीय दल की बात की जाए तो समाजवादी पार्टी , झारखंड मुक्ति मोर्चा , नेशनल कांफ्रेंस , राष्ट्रीय जनता दल , शिवसेना , अकाली दल , पैंथर्स पार्टी , तेलुगू देशम , मुस्लिम लीग , जनता दल यू , सिक्किम संग्राम परिषद , ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक , तेलंगाना राष्ट्र , असम गण परिषद ‍‍लोक जन पार्टी इत्यादि पार्टियां क्षेत्रीय दलों के तौर पर उभर रही हैं।

.

Share This Article
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
राहुल गांधी ने शादी को लेके कही बड़ी बात, जानिए कब हैं राहुल गांधी की शादी रविंद्र सिंह भाटी और उम्मेदाराम बेनीवाल ने मौका देखकर बदल डाला बाड़मेर का समीकरण Happy Holi wishes message राजस्थान में मतदान संपन्न, 3 दिसंबर का प्रत्याशी और मतदाता कर रहे इंतजार 500 का नोट छापने में कितना खर्चा आता है?, 500 ka note banane ka kharcha