राजू ठेहट हत्याकांड के बाद हनुमान बेनीवाल की सुरक्षा को लेकर ट्विटर पर ट्रेंड क्यों ?

राजू ठेहट हत्याकांड के बाद हनुमान बेनीवाल की सुरक्षा को लेकर ट्विटर पर ट्रेंड क्यों ? सीकर में हुए हत्याकांड......

- Advertisement -

राजू ठेहट हत्याकांड के बाद हनुमान बेनीवाल की सुरक्षा को लेकर ट्विटर पर ट्रेंड क्यों ?

सीकर में हुए हत्याकांड में कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या होने के बाद सोशल मीडिया पर नागौर सांसद एवं आरएलपी प्रमुख हनुमान बेनीवाल की सुरक्षा को बढ़ाने को लेकर मांग की जा रही है।

सांसद हनुमान बेनीवाल अपनी प्रखर आवाज के लिए जाने जाते हैं , यह तो राजस्थान में सबको पता है लेकिन हनुमान बेनीवाल पहले आनंदपाल गैंग के खिलाफ बोल चुके हैं , एवं एक बार आनंदपाल ने खुद हनुमान बेनीवाल को मारने की धमकी भी दी थी एवं राजू ठेहट की हत्या करने वाली गैंग भी आनंदपाल की गैंग से जुड़ी हुई होने के अंदेशे जताए जा रहे हैं ‌‌, इधर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के प्रमुख हनुमान बेनीवाल राजू ठेहट की हत्या के बाद परिजनों की मांगों को लेकर धरने पर भी बैठे थे।

वहीं फेसबुक पर सुरेंद्र सिंह नाम के एक व्यक्ति ने हनुमान बेनीवाल को 2023 में जिंदा नहीं देखने की धमकी दी है।

इसी बीच आर एल पी के कार्यकर्ता ट्विटर पर हनुमान बेनीवाल की सुरक्षा को लेकर हनुमान बेनीवाल को जेड प्लस सिक्योरिटी उपलब्ध करवाने के लिए सरकार से मांग कर रहे हैं।

आरएलपी कार्यकर्ताओं ने 7 दिसंबर को सुबह 8:00 बजे हनुमान बेनीवाल को जेड प्लस सिक्योरिटी उपलब्ध करवाने की मांग को लेकर ट्विटर पर #Z_प्लस_सुरक्षा_हनुमान ट्रेंड करवा रहे है।

यह भी पढ़ें  हनुमान बेनीवाल की शादी कब हुई ? , हनुमान बेनीवाल का ससुराल कहां है ?

हनुमान बेनीवाल पर इससे पहले जयपुर के झोटवाड़ा में एक बार हमला हो चुका है एवं इसके बाद बाड़मेर में हनुमान बेनीवाल पर दो बार हमले हुए। बाड़मेर में एक बार हनुमान बेनीवाल पर एवं उनके साथ कैलाश चौधरी पर पथराव किया गया , वहीं दूसरी बार हनुमान बेनीवाल पर एक युवक ने चाकू से हमला करने का प्रयास किया। एवं ऐसे में उनके कार्यकर्ता अब हनुमान बेनीवाल की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए सरकार से मांग कर रहे हैं।

.

Share This Article
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
राहुल गांधी ने शादी को लेके कही बड़ी बात, जानिए कब हैं राहुल गांधी की शादी रविंद्र सिंह भाटी और उम्मेदाराम बेनीवाल ने मौका देखकर बदल डाला बाड़मेर का समीकरण Happy Holi wishes message राजस्थान में मतदान संपन्न, 3 दिसंबर का प्रत्याशी और मतदाता कर रहे इंतजार 500 का नोट छापने में कितना खर्चा आता है?, 500 ka note banane ka kharcha