गुजरात मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने क्यों दिया इस्तीफा…..

News Bureau
3 Min Read

2016 से गुजरात के मुख्यमंत्री पद संभाले विजय रुपाणी ने राज्यपाल से मुलाकात करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की और प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने बताया कि उन्होंने राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया है ।

Img 20210911 162709

विजय रुपाणी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा उन्हें जो भी पार्टी का काम या पद सौंपेंगे उनका वे निर्वहन करेंगे ‌‌।

आपको बता दें गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने 7 अगस्त 2016 को मुख्यमंत्री पद के रूप में शपथ ली थी एवं करीब 5 साल के बाद उन्होंने 11 सितंबर 2021 को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

विजय रुपाणी ने बताया कि 5 साल तक गुजरात में मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया एवं अब वह पार्टी के निर्देशानुसार आगे भी पार्टी में अपना सहयोग जारी रखेंगे साथ ही भारतीय जनता पार्टी ने कल भाजपा विधायकों की बैठक को बुला दिया है, जिसमें भारतीय जनता पार्टी की तरफ से गुजरात के अगले मुख्यमंत्री के नाम पर फैसला होगा हालांकि नए CM की रेस में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया, केंद्रीय मत्स्य एवं पशुपालन मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला, गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल और गुजरात भाजपा के अध्यक्ष सीआर पाटिल के नाम शामिल हैं। इनमें मंडाविया सबसे आगे बताए जा रहे हैं।

लेकिन मुख्यमंत्री पद के लिए किसे चुना जाता है, अंतिम फैसला कल आएगा ।

साथ ही भाजपा ने पिछले 3 महीना में भाजपा शासित राज्यों में पांच मुख्यमंत्रियों को बदल दिए हैं। इसके पीछे भाजपा का मक़सद ये भी हो सकता है कि जातिगत व क्षैत्रिय समीकरणों को ध्यान में रखते हुए आगामी चुनावी रणनीति बनाई जा रही हो ।

विजय रुपाणी ने बताया कि 2022 के चुनाव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में लड़े जाएंगे।

अमित शाह गुरुवार देर रात 8:00 बजे गुजरात पहुंचे थे आशंका है कि अमित शाह गुजरात की राजनीति को लेकर गुजरात आए।

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यमंत्री विजय रुपाणी की अव्यवस्था व नाकामी के कारण जनता नाराज हैं एवं इसी कारण भारतीय जनता पार्टी ने विजय रुपाणी इस्तीफा दिलवाया ।

.

Share This Article
Follow:
News Reporter Team
राहुल गांधी ने शादी को लेके कही बड़ी बात, जानिए कब हैं राहुल गांधी की शादी रविंद्र सिंह भाटी और उम्मेदाराम बेनीवाल ने मौका देखकर बदल डाला बाड़मेर का समीकरण Happy Holi wishes message राजस्थान में मतदान संपन्न, 3 दिसंबर का प्रत्याशी और मतदाता कर रहे इंतजार 500 का नोट छापने में कितना खर्चा आता है?, 500 ka note banane ka kharcha