प्रॉपर्टी विवाद को लेकर गोगामेड़ी की हत्या, गोल्डी बोला दो बार समझाया फिर भी नहीं माना

प्रॉपर्टी विवाद को लेकर गोगामेड़ी की हत्या, गोल्डी बोला दो बार समझाया फिर भी नहीं माना जयपुर में 5 दिसंबर को श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी…

प्रॉपर्टी विवाद को लेकर गोगामेड़ी की हत्या, गोल्डी बोला दो बार समझाया फिर भी नहीं माना

जयपुर में 5 दिसंबर को श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेडी की हत्या के बाद इस हत्या की जिम्मेदारी लॉरेंस गैंग ने ली थी, लॉरेंस गैंग के राइट हैंड एवं विदेश में बैठे गोल्डी बराड़ ने अब एक न्यूज़ चैनल को इंटरव्यू देकर सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या की वजह बताई है।

गोल्डी बराड़ का कहना है कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी से एक प्रॉपर्टी के डिस्ट्रीब्यूशन को लेकर विवाद हुआ था एवं उन्होंने सुखदेव सिंह गोगामेडी को दो बार चेतावनी देकर समझाया था, लेकिन गोगामेडी ने बात नहीं मानी तो गोगामेड़ी की हत्या कर दी।

गोल्डी का कहना है कि गोगामेडी नेता नहीं था वह लोगों को जाति एवं धर्म के नाम पर लड़ाता था, गोगामेडी आंतों में तलवार लहरा कर खुद को बड़ा समझते थे लेकिन अब जमाना ऑटोमैटिक हथियारों का है ‌

गोल्डी बराड़ ने कहा कि सुखदेव सिंह गोगामेडी की हत्या में आनंदपाल गैंग या उनके नजदीकियों का हाथ नहीं था, एवं सुखदेव सिंह गोगामेडी की हत्या करवाने के लिए भी उन्होंने किसी को पैसे देकर हायर नहीं किया था हत्या करने वाले उनके भाई थे, जो उनकी मदद करते थे एवं जरूरत पड़ने पर लॉरेंस गैंग भी उनकी मदद करता था।

सुखदेव सिंह गोगामेडी और लॉरेंस गैंग के बीच विवाद बढ़ने के बाद गोगामेडी ने पुलिस को गैंग से खुद की जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा मांगी थी, लेकिन सुरक्षा नहीं मिलने के कारण गोगामेडी ने को दिया अपनी सुरक्षा के इंतजाम किए थे।

यह भी पढ़ें एलन मस्क ने भारत का समर्थन किया, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बदलाव की मांग

गोगामेडी अपने ऑफिस के लिए एक अलग से रूम बना कर रखा था, एवं हाई सिक्योरिटी लॉक भी लगाया गया था गोगामेड़ी के पास पिस्तौल भी रहती थी, उन्होंने पर्सनल गार्ड भी रख लिए थे।

हमेशा गार्ड भी हथियारों के साथ ही चलते थे बुलेट प्रूफ गाड़ी भी बनवा ली थी, परंतु सुखदेव सिंह गोगामेडी की हत्या करने वाले शूटर रोहित राठौर एवं नितिन फौजी शादी का कार्ड देने के बहाने घर में घुसे और सुखदेव सिंह गोगामेड़ी पर फायरिंग कर दी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *