वसुंधरा राजे के पति का नाम ? वसुंधरा राजे की शादी के 1 साल बाद क्यों हुआ था तलाक ?

आज के लेख में हम बात करेंगे राजस्थान की बीजेपी की कद्दावर नेता एवं दो बार मुख्यमंत्री रह चुकी वसुंधरा राजे के जीवन के बारे…

आज के लेख में हम बात करेंगे राजस्थान की बीजेपी की कद्दावर नेता एवं दो बार मुख्यमंत्री रह चुकी वसुंधरा राजे के जीवन के बारे में , वसुंधरा राजे की शादी के बारे में , वसुंधरा राजे के पति के बारे एवं वसुंधरा राजे के राजनीतिक कैरियर के बारे में ।

वसुंधरा राजे का जन्म 8 मार्च 1853 को ग्वालियर के सिंधिया राजघराने में हुआ , आपको बता दें कि वसुंधरा राजे के माता पिता राजघराने से प्रतिष्ठित लोगों में से एक गिने जाते थे। वसुंधरा राजे के पिता का नाम जीवाजी राव सिंधिया था , जो कि ग्वालियर के शासक भी रह चुके थे । वसुंधरा राजे की माता का नाम विजय राजे सिंधिया था जो कि आजादी के समय एक बड़ी नेता के रूप में उभरी थी।

अब बात करते हैं वसुंधरा राजे की शादी एवं उनके वैवाहिक जीवन के बारे में

आपको बता दें कि वसुंधरा राजे की शादी राजस्थान के धौलपुर के महाराजा हेमंत सिंह से 1972 में हुई थी , लेकिन यह शादी 1 साल भी नहीं टिक पाई और वसुंधरा राजे के पुत्र दुष्यंत सिंह का जन्म होने से पहले ही दोनों में तलाक हो गया । हालांकि इस शादी को लेकर वसुंधरा राजे की परिवार वाले खुश नहीं थे , तो इधर हेमंत सिंह के माता-पिता भी हेमंत सिंह की शादी वसुंधरा राजे के साथ नहीं चाहते थे ।

वसुंधरा राजे का तलाक होने के बाद वो ग्वालियर चली गई , 1978 में दुष्यंत सिंह की नानी विजय राजे ने संपत्ति में हिस्सेदारी को लेकर अदालत में मामला दर्ज करवाया ‌‌‌‌‌‌‌‌एवं इस दौरान न्यायालय के आदेश के बाद वसुंधरा राजे धौलपुर में रहने में रहने लगी ।‌

लंबे समय तक मामले के चलने के बाद मई 2007 में अदालत में समझौता हो गया , इस मामले का समझौता करवाने में हेमंत सिंह के रिश्तेदार भरतपुर से विश्वेंद्र सिंह की अहम भूमिका रही थी।

वसुंधरा राजे एवं हेमंत सिंह के बीच किन कारणों से मात्र 1 साल में ही तलाक हो गया यह तो सिर्फ दो ही लोग जानते हैं वसुंधरा राजे और हेमंत सिंह ।

वसुंधरा राजे ने अपनी राजनीति पर भी लगातार अपना ध्यान जारी रखा और भैरों सिंह शेखावत के बाद उन्होंने भारतीय जनता पार्टी में अपनी सक्रियता बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री तक का मुकाम हासिल किया।