कौन है करण सिंह उचियारड़ा, जिन्हें कांग्रेस ने जोधपुर से चुनाव मैदान में उतारा

कौन है करण सिंह उचियारड़ा, जिन्हें कांग्रेस ने जोधपुर से चुनाव मैदान में उतारा जोधपुर करण सिंह उचियारड़ा कौन है......

- Advertisement -

कौन है करण सिंह उचियारड़ा, जिन्हें कांग्रेस ने जोधपुर से चुनाव मैदान में उतारा

जोधपुर करण सिंह उचियारड़ा कौन है जीवन परिचय Jodhpur Karan Singh Uchiyarda Biography

कांग्रेस पार्टी ने करण सिंह उचियारड़ा को जोधपुर लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा हैं, यहां से राजस्थान के मुख्यमंत्री रहे अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत दो बार लोकसभा चुनाव हार चुके हैं लेकिन इस बार जोधपुर लोकसभा सीट पर कांग्रेस पार्टी ने नया प्रयोग किया है।

भारतीय जनता पार्टी ने जोधपुर लोकसभा सीट से गजेंद्र सिंह शेखावत को लगातार तीसरी बार चुनाव मैदान में उतारा हैं, गजेंद्र सिंह शेखावत वर्तमान में मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री हैं।

अब बात करते हैं कि गजेंद्र सिंह शेखावत के सामने चुनाव लड़ रहे जोधपुर करण सिंह उचियारड़ा कौन है ? Jodhpur Karan Singh Uchiyarda Biography 

करण सिंह उचियारड़ा राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव है एवं दो दशकों से कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें राजस्थान में कांग्रेस से गठबंधन नहीं हुआ तो 5 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी बीएपी

करण सिंह लगातार कांग्रेस पार्टी के साथ जुड़े हुए हैं, एवं गजेंद्र सिंह शेखावत के सामने करण सिंह को चुनाव मैदान में उतारने के पीछे कांग्रेस का तर्क यह भी है कि करण सिंह अभी तक संसद या विधानसभा सदस्य जैसे पदों पर नहीं रहे हैं तो उन पर भ्रष्टाचार जैसे आरोप भी नहीं लगे हुए हैं।

राजनीतिक जानकार मानते हैं कि सचिन पायलट का समर्थक होने की वजह से करण सिंह को विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिल पाई थी, करण सिंह उचियारड़ा  सचिन पायलट गुट के नेता माने जाते हैं।

लेकिन इस बार जोधपुर लोकसभा सीट से अशोक गहलोत पर चुनाव लड़ने का दबाव बनाया जा रहा था, इसके बाद अशोक गहलोत ने अपने पुत्र वैभव गहलोत के लिए जालौर सिरोही लोकसभा सीट व करणसिंह उचियारड़ा के लिए जोधपुर सीट का समर्थन किया।

.

Share This Article
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
राहुल गांधी ने शादी को लेके कही बड़ी बात, जानिए कब हैं राहुल गांधी की शादी रविंद्र सिंह भाटी और उम्मेदाराम बेनीवाल ने मौका देखकर बदल डाला बाड़मेर का समीकरण Happy Holi wishes message राजस्थान में मतदान संपन्न, 3 दिसंबर का प्रत्याशी और मतदाता कर रहे इंतजार 500 का नोट छापने में कितना खर्चा आता है?, 500 ka note banane ka kharcha